उत्तर प्रदेश में एक राजनीति पार्टी ने ‘गधे’ को अपनी तरफ से मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित किया है। बहुजन विकास पार्टी ने देश में चुनावी व्यवस्था का मज़ाक उड़ाने के लिए जिस गधे को चुना है उसका नाम गरदभ सिंह यादव रखा है। संस्कृत में गरदभ का अर्थ होता है गधा। पार्टी जल्द लखनऊ कैंट इलाके से गरदभ का नामांकन दाखिल करने की योजना बना रही है।

प्रदेश में बहुजन विकास पार्टी को ज्यादा लोग नहीं जानते। इस बहुत कम लोगों की पार्टी है। लेकिन अपनी इस अनोखी योजना के चलते ये पार्टी चर्चा में आ गई है। अब पार्टी जल्द लखनऊ के बर्लिंगटन क्रॉसिंग से डीएम कार्यालय तक ‘जानवर’ मार्च कराने वाली है। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष केशव चंद्र ने पार्टी के इस कदम को चुनावी व्यवस्था के खिलाफ लड़ाई बताया।

केशव चंद्र ने कहा कि उनका उद्देश्य चुनावी व्यवस्था के खिलाफ लड़ाई है जो दागी और अयोग्य उम्मीदवारों को मैदान में उतारते की अनुमति देती है। गधे को मुख्यमंत्री उम्मीदवार बनाने पर उन्होंने कहा, ‘हमारे लिए गधा सबसे योग्य कैंडिडेट है, जो काम के बोझ को नहीं समझता और उसे कानून बनाने के लिए किसी प्रकार की शिक्षा की जरूरत नहीं होती।’

केशव चंद्र 30 सालों से राजनीति में है। उन्होंने बताया कि वह कभी बीजेपी नेता सुब्रमण्यन स्वामी के काफी करीबी थे। बकौल केशव चंद्र उन्होंने इतने वर्षों में राजनैतिक व्यवस्था की ऐसी दुर्गति नहीं देखी। पिछले साल अक्टूबर के महीने में उन्होंने बहुजन विकास पार्टी बनाई, जिसका चुनाव चिह्न चप्पल है।बता दें कि गधे को चुनाव के मैदान में उतारने के लिए इस पार्टी में सभी की आपसी सहमति रही है।

Advertisements