छतरपुर जिला मुख्यालय से 70 किलोमीटर दूर लवकुशनगर अनुविभाग/थाना क्षेत्र के ग्राम कटहरा में अजीब सी घटना सामने आई है। यहां ग्रेनाइट के मलबे से बने रैंप के नीचे छोटे छोटे 3 गड्डे बन गए हैं। इन तीनों गड्ढों में से रहस्यमयी तरीके से पानी निकल रहा है। ये तीनों गड्ढे और इनसे निकलता पानी हैरत और आस्था का विषय बन गए हैं। यूं तो गंगा नदी एम.पी. को छू कर भी नहीं निकलती फिर भी यहां लोग गड्ढों से पानी निकलने को पानी को गंगा जमुनी पानी बता रहे हैं।

पानी पीने से लकवा हो रहा ठीक –

कुछ लोग तो यहां तक कह रहे हैं कि इस पानी को पीने से लकवे जैसे रोग भी ठीक हो जाते हैं। बताते हैं कि रामेश्वर राजपूत नाम के एक व्यक्ति के सपने में भगवान शंकर आए और सपने में भगवान ने रामेश्वर को गांव में ही एक जगह पर गंगा मां के प्रकट होने की बात कही। अगले दिन सुबह रामेश्वर सपने में दिखे स्थान पर गया तो वहां उसे तीन गड्ढे दिखाई दिए जिनमें से पानी निकल रहा था। उसने वहाँ के गड्ढों में भरे पानी से स्नान किया तो उसके सारे अंग काम करने लगे और अब वो अच्छी तरह से चल फिर सकता है।
अब यह कहानी सच है या नहीं ये तो पता नहीं लेकिन लोगों में यह कहानी बहुत प्रचलित हो रही है। उसने लोगों को जैसे ही अपनी कहानी सुनाई बस फिर क्या था वहां भीड़ इकट्ठी होने लगी। लोग इस पानी को बोतलों में भरकर ले जा रहे हैं।

Advertisements