आज हम आपको बता रहें हैं दिल्ली और मुबंई के ऐसे फाटक के बारे में बता रहें हैं जहां पर रात होते ही भूतों की धमाचौकड़ी शुरू हो जाती है। इन भूतों की धमाचौकड़ी के कारण यहां के कर्मचारी भी रेलवे से नौकरी छोड़ने तक को तैयार हो गए है।
रेलवे के कई ऐसे फाटक है जिनमें भूतों की कई घटनाओं के होने की चर्चा होती रहती है। लेकिन आज हम इन रेलवे फाटकों में से दिल्ली मुंबई रेलवे लाइन पर स्थित फाटक नंबर 248 की बात कर रहे हैं। इस रेलवे फाटक में रात होते ही अजीबों गरीब हरकतें होने लगती है। इस फाटक में काम करने वाले कर्मचारियों को रात होते ही यहां पर कभी पायल की आवाजें आती है तो कभी किसी बच्चें के तेज रोने की आवाज सुनाई देती है। इसके अलावा कर्मचारियों को यह भी महसूस होता है कि किसी ने उनके हाथों और पैरों को बांध दिया है। कभी कोई गेट खटखटाने लगता है। इस बात की गांव वाले भी पुष्टि करते है। यहां पर 15 दिन पूर्व ही एक हादसा हुआ था। जिसके बाद से ही इन भूतों के धमाचौकड़ी शुरू हो गई हैं। अभी यहां पर काम करने वाले कर्मचारी भूतों के भय से अपनी जान बचाने के लिए रेलवे विभाग को अपना ट्रांसफर करने के लिए अर्जी लिख चुके हैं। साथ ही वह ऐसा न होने पर नौकरी छोड़ने तक के लिए तैयार हो गए है।
Advertisements