इस ख़ुशबू के दिवानों के लिए एक अच्छी खबर है। हम आपको बता दें कि ये इंतज़ार हमेशा के लिए खत्म होने वाला है। ऐसा संभव किया है भारत के एक गांव ने। इस गांव ने मिट्टी की खुशबू वाला एक खास इत्र तैयार किया है।

उत्तर प्रदेश का कन्नोज जिला दुनियाभर में अपने इत्र निर्माण उद्योग के लिए जाना जाता है। लेकिन कन्नोज के इन इत्र निर्माताओं ने पहली बार बारिश के समय गीली मिट्टी से आने वाली खुशबू का इत्र बनाया है। इस इत्र को बनाने के लिए सबसे पहले मिट्टी को तांबे के बड़े-बड़े पात्रों में पकाया जाता है। फिर आसवन की विधि द्वारा पकाई गई इस मिट्टी की स्मेल को बेस ऑयल के साथ संघनित किया जाता है।

aa.png

इस प्रक्रिया से बेस ऑयल में मिट्टी की सौंधी-सौंधी खुशबू मिल जाती है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने 2015 में अपने फ्रांस दौरे के दौरान कन्नौज के इत्र व्यापरियों की प्रशंसा की थी। उन्होनें कहा था कि कन्नौज के इत्र कारोबारी एक ऐसा इत्र बनाते हैं जिसकी खुशबू दुनिया भर के इत्र से भिन्न होती है। यह इत्र केवल भारत में ही नहीं दुनिया भर में विख्यात है।

Advertisements