इस अजब-गजब दुनिया में कई रीति-रिवाज और रस्में ऐसी होती जो हमें विस्मित कर देती हैं. भारत की ही तरह जापान में भी ऐसे कई परम्पराएं चली आ रही हैं जो वहां के लोगों के लिए तो कॉमन है लेकिन ये हमें जरूर अचम्भे में डाल देती हैं. ऐसे ही एक परम्परा है जिसका नाम है..न्योताईमोरी. वैसे ‘न्योताईमोरी’ जापान में एक कला के रूप में प्रसिद्ध है. आप सोच रहे होंगे ऐसा क्या विशेष है ‘न्योताईमोरी’ तो चलिए देखते हैं क्या होता है ‘न्योताईमोरी’ में.

जापान में एक स्पेशल डिश होती है जिसका नाम है ‘सुशी’, अब डिश स्पेशल है तो उसे परोसने का तरीका भी तो स्पेशल ही होगा न. जी हां इस डिश को नग्न लड़कियों के ऊपर परोसा जाता है, यही इसकी खासियत है.

ss.jpg

आपको बता दें की जापान में न्योताईमोरी नाम की इस कला का इतिहास काफी पुराना है.  माना जाता है कि जापान में ‘न्योताईमोरी’ की शुरुआत समुराई योद्धाओं के समय हुई थी. ये योद्धा किसी भी लड़ाई में जीत के बाद स्थानीय लोगों के साथ, गिशा (जापानी नर्तकी) के घर जश्न मनाते थे, जहां हर तरह के मनोरंजन का साधन होता था. वैसे आपको यह बात जानकर हैरानी होगी कि सुशी डिश को बनाना और परोसना दोनों ही कठिन काम है इसलिए इसे संपन्न करने के लिए पूरी टीम काम करती है. जी हां जैसा कि आप सोच रहें हैं, इस काम में सबसे ज्यादा मेहनत ‘न्योताईमोरी’ मॉडल को करनी पड़ती है. खास बात यह है कि खाना परोसे जाने के बाद कभी-कभी इन्हें बिना हिले-डुले 5 घंटे भी डाइनिंग टेबल पर लेटे रहना पड़ता है. ‘सुशी’ नाम की इस डिश को परोसने से पहले ‘न्योताईमोरी मॉडल्स’ को कई घंटों ठन्डे पानी से ट्रीट किया जाता है उसके बाद उन पर पत्ते बिछाए जाते हैं जिस पर सुशी परोसी जाती है. इस काम में ‘न्योताईमोरी मॉडल्स’ को फक्र महसूस होता है क्योंकि यह जापान की जानी-मानी कला या कहें परंपरा है.

Advertisements