देशभर में 25 दिसंबर के दिन क्रिसमस के त्योहार को धूमधाम के साथ मनाया जा रहा है। आझ के दिन हर चर्च में शादी सेलिब्रेशन जैसी धूम देखने को मिलती है। वहीं वाराणसी में एक ऐसा चर्च है जिसमें बाइबल के साथ-साथ भगवद् गीता भी है। जी हां- वाराणसी के सेंट मैरी कैथेड्रल की दीवारों पर गीता के श्लोक लिखे हुए हैं। यह लोगों को प्रेम और भाईचारे का संदेश दे देते हैं। ये चर्च धार्मिक एकता और सौहार्द की मिसाल पेश करता है।
सेंट मैरी कैथेड्रल अपने आप में बेहद खास है। इस चर्च की दीवारों पर पीतल के अक्षरों में न सिर्फ बाइबल, भगवद् गीता और बुद्ध के संदेश उकेरे गए हैं। इसके अलावा प्रार्थना सभाओं में भी इनकी गूंज साफ सुनाई देती है। यहां पर सभी धर्मो के लोग आते हैं। चर्च के मुख्य पादरी विजय शांतिराज हैं उन्होंने बताया कि सेंट मैरी कैथेड्रल में सिर्फ ईसाई ही नहीं, बल्कि अन्य धर्मो के लोग भी आते हैं।

qq.jpg
चर्च के मुख्य पादरी विजय शांतिराज के मुताबिक, सेंट मैरी कैथेड्रल में केवल ईसाई ही नहीं, अन्य धर्मो के लोग भी आते हैं। वहीं यूपी के मऊ में फातिमा अस्पताल इलाके में स्थित एक चर्च ने बाइबल के संदेशों के साथ-साथ रामायण के दोहों और कुरान की आयतों को भी चर्च की दीवरों पर लिखवा रखा है। ये कदम धार्मिक एकता, सौहार्द और आपसी भाईचारा बनाए रखने के लिए अच्छा संदेश दे रहे हैं।

Advertisements