क्रिसमस पर सांता से उपहार मिलने का इंतजार लोगों को हमेशा रहता है। बच्‍चों को यह उम्‍मीद होती है कि आज के दिन सांता उन्‍हें हर हाल में उपहार देगा। हालांकि आज के दिन तो ये सांता बनते हैं, लेकिन कुछ लोग हकीकत की जिंदगी में सांता होते हैं। वह अपने बच्‍चों की खुशियों के लिए हर हाल में सब कुछ करने को तैयार होते हैं। आइए मिलते हैं ऐसे ही एक रियल लाइफ सांता से…

रियल लाइफ सांता
जी हां 25 दिसंबर क्रिसमस के दिन कुछ लोग सांता बनकर अपने बच्‍चों को उपहार देते हैं। कहा जाता है कि आज के दिन सांता अपने बच्‍चों की स्‍पेशल विश को करने की कोशिश करता है, लेकिन रियल लाइफ वाले सांता किसी एक दिन का इंतजार नहीं करते हैं। वे साल भर अपने बच्‍चों को की खुशियों का ख्‍याल रखते हैं। अब 59 वर्ष के राजन अरोड़ा को ही ले लीजिए। व्हाट्सएप पर लोगों के मनपसंद गानों की फरमाइशों को पूरा करने वाले राजन अरोड़ा को लोग रियल लाइफ सांता बोला जाता है।

xx.jpg

आगे बढ़ाने का काम
आज यह कई व्हाट्सएप ग्रुप के एडमिन हैं। इलाहाबाद, दिल्ली, मुम्बई, कोलकाता, लखनऊ, कानपुर, जौनपुर जैसे शहरों के लोग बड़ी संख्‍या में जुड़े हैं। राजन अरोड़ा के गुप्‍स में डाक्टर, सीए, शिक्षक, पत्रकार जैसे समाज के जिम्‍मेदार नागरिक जुड़े हैं। जो इन ग्रुप में राजन अरोड़ा के बनाए नियमों का अच्‍छे से पालन भी करते हैं। राजन समाज की महिलाओं व बेटियों को आगे बढ़ाने का काम करते हैं। सॉग्स के वह साथ रेसिपीज, कुकिंग आदि से जुड़ी अच्‍छी बाते भी शेयर करते हैं।

आज भी पीछे नहीं
सबसे खास बात तो यह है कि वह ये सब जिन हालातों में करते हैं वह काफी चौकाने वाले हैं। राजन अरोड़ा को डॉक्‍टर ने पूरा आराम करने की सलाह दी है। वह रीढ़ की हड्डी की बीमारी की वजह से बिस्तर पर लेटे हुए हैं। यह बीमारी उन्‍हें साल 2013 में हुई है, लेकिन वह समाज को जागरुक करने और लोगों को उनकी परेशानी के निवारण बताने में आज भी पीछे नहीं हैं। उनका कहना है कि आराम की जरूरत शरीर को है दिमाग को नहीं है। इसलिए वह इस तरह से अपने बच्‍चों को की मदद कर रहे हैं।

Advertisements