लालच मे आकर सरकारी अस्‍पताल में काम करने वाली लिली बेगम ने ऐसा कदम उठाया की सब हैरान रह गए। दरअसल मामला असम का है जहाँ सरकार ने ग्रामीण स्‍वास्‍थ्‍य केन्‍द्रों पर प्रसव की संख्‍या बढ़ाने के लिए एक योजना शुरू की है। इसके तहत गर्भवती महिला को प्रसव के बाद 500 रुपए मिलते हैं। पैसों के लालच में अस्‍पताल में पैदा हुए 160 में 85 बच्‍चों की मां के नाम की जगह लिली बेगम ने अपना नाम लिख दिया। जिम्‍मेदारों को कहीं से इस सच की बू मिल गई। इसके बाद मामला खुला। अधिकारियों के मुताबिक इन पैसों के भुगतान का काम भी यही नर्स संभाल रही थी। इसलिए उसे ऐसा फर्जी काम करने में ज्यादा पेरशानी भी नहीं हुई। यही वजह थी कि वह आसानी से पकड़ में भी आ गई। 17 सितंबर को बेगम को निलंबित कर दिया गया। उसने बताया कि हम जैसी नर्सों पर बहुत दबाव होता है। हमें अपने काम के मुताबिक पैसा नहीं मिलता है। इसलिए मैंने यह फर्जीवाड़ा किया।

Advertisements