आज तक पर श्वेता, अंजना सिंह के हाव-भाव हों या ज़ी न्यूज़ के सुधीर चौधरी का नेशनल टेलीविज़न पर बचपना. आज इंडिया के अधिकतर न्यूज़ चैनल किसी कार्टून नेटवर्क से कम नहीं, जो कभी जंग के ऐलान की बात करते हैं, तो कभी हालातों को बद से बदतर बना देते हैं. TRP के इस खेल में कई बार न्यूज़ चैनल ख़बरों को इस तरह से प्रस्तुत करते हैं कि अपनी हंसी पर काबू रख पाना मुश्किल हो जाता है. यदि आप सोचते हैं कि ये हाल सिर्फ़ हमारा है, तो ज़रा ठहरिये क्योंकि अपना पड़ोसी देश पाकिस्तान भी मीडिया द्वारा कुछ ऐसा ही मारा हुआ है.

अब जैसे इन्हीं पाकिस्तानी आंटी को देखिये, जो प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को कुछ इस तरह हिदायत देती हुई नज़र आ रही है, जिसे देख कर डर का तो पता नहीं, पर हां, हंसी ज़रूर आ जाएगी.

Advertisements