कुछ अप्रत्याशित तस्वीरें या फुटेज हासिल करने के चक्कर में कई बार लोग अपने कैमरे को जंगलों या फिर ऐसी ही किसी जगह पर फिट कर देते हैं, जहां से कुछ रोमांचक होने की उम्मीद की जा सकती है. यूं तो ज्यादातर समय इन कैमरों पर सामान्य आवाजाही के अलावा कुछ खास नहीं मिलता, लेकिन कई बार इनमें कुछ ऐसा कैद हो जाता है, जिस पर सहसा विश्वास करना आसान नहीं होता.

पोलैंड के एक जंगल में लोगों ने यही सोचकर इस कैमरे को फिट किया था कि उन्हें जंगली जानवरों की दुर्लभ तस्वीरों से रू-ब-रू होने का मौका मिलेगा, लेकिन कैमरे पर उन्होंने जो देखा, उसे देख कर तो एक बार को इन लोगों को अपनी आंखों पर विश्वास ही नहीं हुआ.

qq.jpg

दरअसल चेक गणराज्य के एक शख़्स ने इन जंगलों के पास ही एलएसडी ड्रग लिया और ड्रग लेने के कुछ ही देर बाद उसे एहसास हुआ कि वह इंसान नहीं, बल्कि इंसान के रूप में एक टाइगर है. मार्के एच. एलएसडी़ खाने के बाद 8 घंटों तक जंगल में नग्न अवस्था में दौड़ता रहा. मार्के के अनुसार, एलएसडी के इस्तेमाल के बाद वह घंटों एक रहस्यमयी खुशबू का पीछा कर रहे थे और इसी सिलसिले में वह नग्न अवस्था में ही 8 घंटों तक एक साइबेरियन शेर की तरह दौड़ते हुए 15 मील से अधिक की दूरी तय कर गए.

रिपोर्ट के अनुसार, इस शख़्स ने अपने डिप्रेशन से पार पाने के लिए इस ड्रग का इस्तेमाल किया था. पुलिस को इस घटना की जानकारी मिली तो हुडदंग के आरोप में इस शख़्स पर जुर्माना लगाकर छोड़ दिया गया. हालांकि ड्रग की उपलब्धता न होने की वजह से पुलिस ने मार्के पर कोई कार्यवाई नहीं की. चेक गणराज्य के इस व्यक्ति का दावा है कि भले ही लोग उसे बेवकूफ समझ रहे हों लेकिन वो जानते हैं कि उन्हें अपना असली रूप हासिल हो चुका है.

qqq.jpg

एलएसडी को दुनिया में हालांकि एक रिक्रिएश्नल ड्रग के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है और कई लोग अपना डिप्रेशन दूर करने और अपने अहंकार को मिटाने के लिए इसका इस्तेमाल करते रहे हैं, लेकिन ज्यादा मात्रा में लेने पर या सही तरीका न अपनाने पर यह ड्रग आपके दिमागी संतुलन के साथ खिलवाड़ भी कर सकता है.

 

Advertisements