पीएम मोदी की पहचान एक वैश्विक नेता के रुप में की जा रही है. ऐसा इसलिए हो रहा है क्योंकि वो एक्शन में विश्वास करते हैं. अभी हाल में ही देखा गया था कि पाकिस्तान के हमले का जवाब देते हुए भारत ने पाकिस्तान में जाकर सर्जिकल स्ट्राइक किया था. इससे पाकिस्तान का पूरी दुनिया में काफ़ी माखौल उड़ा था. हालांकि वहां के नेता इस बात से इंकार कर रहे हैं. इस बीच पाकिस्तान की कट्टरपंथी पार्टी जमात-ए-इस्लामी के प्रमुख सिराजुल हक़ ने भारत पर ‘वॉर हिस्टीरिया’ फैलाने का आरोप लगाया है. इतना ही नहीं सिराजुल ने पीएम मोदी को निशाना बनाते हुए कहा है कि पाकिस्तान भारत से ज़्यादा शक्तिशाली है. पाकिस्तान को कम आंकने की ज़रुरत नहीं है. सिराजुल हक़ ने सिंधू जल बंटवारे पर पीएम को कहा है कि ‘यदि कोई हमारा पानी रोकेगा, तो हम उसकी सांसें ख़त्म कर देंगे.’

यूं तो पाकिस्तान के सभी आतंकवादी संगठन पीएम को मारना चाहते हैं. ऐसे में यह धमकी कोई नई बात नहीं है. एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के अनुसार, जमात-ए-इस्लामी चीफ़ सिराजुल हक़ ने कहा कि अगर युद्ध होता है, तो भारत को 1965 की तुलना में हज़ार गुना मज़बूत हो चुके पाकिस्तान का सामना करना होगा. 

हिन्दुस्तान ‘वॉर हिस्टीरिया’ पैदा कर रहा है

सिराजुल हक़ ने भारत पर आरोप लगाते हुए कहा कि भारत कश्मीर में अपने अत्याचारों से दुनिया का ध्यान हटाने के लिए ‘वॉर हिस्टीरिया’ पैदा कर रहा है. यह भारत की नाकामी है.

qq.jpg

‘आंतरिक हलचल से परेशान है भारत’

सिराजुल हक़ ने कहा है कि भारत काफ़ी समय से उग्रवाद से जूझ रहा है. हिंदू कट्टरपंथी धार्मिक अल्पसंख्यक समूहों जैसे मुस्लिम, सिख और ईसाइयों के साथ जानवरों से भी बदतर व्यवहार करते हैं. आर्थिक मोर्च पर भारत गरीबी से प्रभावित है और लाखों नागरिक खाली पेट सोने को मजबूर हैं.’ सिराजुल ने कहा कि ऐसे में भी मोदी अपनी असफ़लताओं को छुपाने के लिए पाकिस्तीन के खिलाफ जहर उगल रहे हैं. पाकिस्तान में जिनकी औकात नहीं है, वो हमारे देश और हमारे पीएम को मारने की धमकी दे रहे हैं. सिराजुल को शायद पता नहीं कि आज के समय में पाकिस्तान एक विफल राष्ट्र है. आर्थिक, सामाजिक, राजनीतिक और लोकतांत्रिक रुप से तो ये पिछड़ा हुआ है ही, इसके अलावा इस देश में ग़रीबी, बेरोजगारी और ना जाने कई ऐसी असफ़लताओं से जूझ रहा है. 

Advertisements