प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘TIME’s Person of the Year- 2016’ का ऑनलाइन रीडर्स पोल जीत लिया है. इस पोल में उन्‍होंने दुनियाभर के कई नेताओं, कलाकारों और अन्‍य हस्तियों को पछाड़ा है. हालांकि अंतिम फैसला मैगज़ीन के एडिटर्स करेंगे और इसका ऐलान 7 दिसंबर को किया जाएगा, लेकिन लोगों ने उनको जीत दे ही दी है.

आपको बता दें कि रविवार, 4 दिसंबर को रात में समाप्‍त हुई वोटिंग में 18 प्रतिशत लोगों ने पीएम मोदी के पक्ष में वोट डाला. उनके बाद बराक ओबामा, डोनाल्‍ड ट्रंप और विकीलीक्‍स के संस्थापक जूलियन असांजे हैं. इन तीनों को सात-सात प्रतिशत वोट मिले हैं. हिलेरी क्लिंटन को चार और मार्क जुकरबर्ग को दो प्रतिशत लोगों ने वोट किया.

यह लगातार चौथा साल है, जब टाइम मैगजीन के ‘पर्सन ऑफ द ईयर’ दावेदारों की सूची में नरेंद्र मोदी को शुमार किया गया था.

दरअसल, अमेरिकी मैगज़ीन हर साल ‘अच्छे या खराब कारणों से सुर्खियों में रहने वाले’ व्यक्ति की तस्वीर अपने पहले पन्ने पर प्रकाशित करती है. पिछले साल टाइम ने जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल को ‘पर्सन ऑफ द ईयर’ घोषित किया था. टाइम मैगज़ीन के एडिटर्स हर साल दुनिया के नेताओं, राष्ट्राध्यक्षों, प्रदर्शनकारियों, अंतरिक्ष यात्रियों, पॉप संगीत के दिग्गजों के अलावा अच्छे या बुरे कारणों से चर्चा में रहे लोगों के नामों के लिए ऑनलाइन वोटिंग करवाते हैं.

w.jpg

टाइम मैगजीन ने 2016 के उन क्षणों का भी विश्लेषण किया है, जब दावेदार सबसे ज़्यादा चर्चा में रहे. मोदी ने 16 अक्तूबर को गोवा में हुए ब्रिक्स देशों के सम्मेलन के दौरान पाकिस्तान को आतंकवाद का ‘निर्यातक’ देश कहा था. इस दौरान मोदी सबसे ज़्यादा चर्चा में रहे.

टाइम मैगजीन की ‘पर्सन ऑफ द ईयर’ की सूची में इस साल अमेरिका की पूर्व विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन, एफबीआई के प्रमुख जेम्स कोमी, ऐपल के मुख्य कार्यकारी टिम कुक, अपने देश के लिए कुर्बान हुए मुसलमान अमेरिकी सैनिक हुमायूं खान के माता-पिता ख़िज़्र और गज़ाला खान, उत्तरी कोरिया के नेता किम जोंग उन, ब्रिटिश प्रधानमंत्री थेरेजा मे और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग को शामिल किया गया है.

 

Advertisements