आयुर्वेद में बहुत ही ऐसी छोटी-छोटी लेकिन महत्वपूर्ण बातें बताई गई हैं जिन्हें मान कर हम स्वस्थ, सुंदर तथा खुशहाल जीवन का आनंद ले सकते हैं। आइए जानते हैं ऐसे ही कुछ आयुर्वेदिक टिप्स के बारे में…

चोट में नीम का तेल

नीम का तेल चोट में बेहद कारगर होता है। विशेषकर खिलाडिय़ों के लिए नीम का तेल लाभकारी है। अधिकतर एथलीट्स को पैर संबंधी चोट अधिक लगती है जिससे संक्रमण होने का खतरा भी ज्यादा होता है। नीम के तेल में पाई जाने वाले एंटी-फंगल खूबियां चोट के साथ फंगस से लडऩे में मददगार होती हैं। नीम का तेल त्वचा के किसी भी प्रकार के इंफेक्शन को कम करने में सक्षम है।

भोजन में जरूरी है दही

यदि आप नियमित रूप से अपने भोजन में दही को शामिल करती हैं तो बहुत से रोगों से आसानी से बच सकती हैं। दही में कैल्शियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो कि हड्डियों के लिए बहुत फायदेमंद होता है। दही खाने से दांत भी मजबूत होते हैं। दही ऑस्टियोपरोसिस (जोड़ों की बीमारी) जैसी बीमारी से लडऩे में भी मददगार है। गर्मियों में दही पेट को ठंडा रखता है और लू से बचाता है।

सूजन कम करे जौ का पानी

अगर शरीर में सूजन है तो जौ का पानी आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। जौ में पोटैशियम की मात्रा अधिक होती है जो कि शरीर की सूजन को कम करने का काम करती है। जौ को 3-4 कप पानी में 15-20 मिनट तक उबालें। फिर इसे छान कर ठंडा कर लें। उसके बाद इसमें स्वाद के लिए नींबू या संतरे का रस मिलाएं। इसे रोजाना पीना अधिक फायदा रहता है।

लो ब्लड प्रेशर में क्या करें

अगर आप लो ब्लडप्रेशर की मरीज हैं तो खानपान पर अतिरिक्त ध्यान से यह परेशानी दूर कर सकती हैं। भोजन में पालक, मेथी, घीया, टिंडा व हरी सब्जियां लें। फ्रूट्स में अनार, अमरूद, सेब, केला, चीकू व अंगूर खाएं। इसके अलावा एक कप नारंगी का रस अवश्य पिएं।

Advertisements