भारत के केरल राज्य में मल्लापुरम जिले में कोधिनी नामक एक गाँव ऐसा है जिसे जुड़वाँ बच्चों का गाँव कहा जाता है. इस गाँव की खासियत है कि यहाँ ज्यादातर बच्चे जुड़वाँ ही पैदा होते हैं. यही कारण है कि इस छोटे से गाँव में 350 के करीब जुड़वाँ लोग हैं. इस गाँव में इतने जुड़वाँ बच्चे क्यों पैदा होते हैं इसका जवाब न तो डॉक्टरों के पास है और न ही विज्ञान के पास. कुछ डॉक्टरों का मानना है कि इनके खाने-पीने  में कुछ ऐसा है जिससे जुड़वाँ बच्चे पैदा होते हैं तो कुछ इसे आनुवंशिक प्रक्रिया कहते हैं. परन्तु कोई प्रामाणिक उत्तर न होने से इस गाँव का यह रहस्य अभी भी रहस्य ही है.

qq.jpg

 

और तो और, इस गाँव की लडकियां, जिनके विवाह दूसरी जगहों पर हुए, उनके यहाँ भी जुड़वाँ बच्चों के पैदा होने के मामले प्रकाश में आ रहे हैं. गाँव के लोगों के मुताबिक़ यहाँ सबसे पहले वर्ष 1949 में जुड़वाँ बच्चों का जन्म हुआ था और तब से यह सिलसिला अब तक जारी है.

Advertisements