आज देश की शायद ही कोई लड़की इतनी परेशान होगी, जितना सोनम गुप्ता नाम की लड़कियां हैं. इस साल की शुरुआत में किसी ने दस के नोट पर ‘सोनम गुप्ता बेवफा है’ लिख कर सोशल मीडिया पर नोट की तस्वीर शेयर की थी. उस वक्त ये सोशल मीडिया पर थोड़ी वायरल हुई थी.

अब बीते सोमवार को किसी ने एक बार फिर दो हज़ार के नोट पर वही लिख कर दोबारा शेयर कर दिया. इसके बाद लोगों ने अपनी क्रिएटिविटी की छीछालेदर फैलाई और सोनम गुप्ता को अपने-अपने अंदाज़ में हर तरफ़ बेवफ़ा साबित कर दिया.

कुछ लड़कियों पर तो कोई खास असर नहीं हुआ, लेकिन कई लड़कियों के पास लड़कों के उल्टे-सीधे मेसेजेस आना शुरू हो गए. लोग उनसे बेवफ़ा होने का कारण पूछने लगे, कुछ के पास अश्लील मेसेज भी आए. ऐसे में उन लोगों को समझाना और मुश्किल हो गया है, जिन्हें सोशल मीडिया के इस ट्रेंड की जानकारी नहीं है.

Mumbai Mirror ने तीन अलग-अलग सोनम गुप्ता से बात की और जानी उनकी स्थिति.

aa.jpeg

25 साल की सोनम गुप्ता पेशे से फीचर लेखिका हैं. सोनम के अंकल ने उनसे सवाल किया कि क्या ये किसी Ex-Boyfriend की हरकत है? सोनम ने बताया कि ये अब तक का सबसे हास्यात्मक किस्सा है. मेरी अभी शादी हुई है और मेरे अंकल अभी नए-नए फेसबुक पर आए हैं. जब उन्होंने ये ट्रेंड देखा तो मुझे कॉल की और बड़े धैर्य से ये पूछने लगे. इतना ही नहीं, सोनम की एक पुरानी वीडियो के व्यूज़ भी अचानक बढ़ने लगे और लोगों ने कमेंट में ‘तू बेवफ़ा है’ लिख डाला.

23 साल की सोनम गुप्ता B.com तीसरे साल की छात्रा हैं. सोनम ने बताया कि उसे लगभग 20 कॉल और 50 मेसेजेस मिल चुके हैं. सोनम ने बताया कि पहले दोस्त और परिवार वाले उससे मज़ाक कर रहे थे, तब तक ठीक था. बाद में अंजान लोग उससे चुटकी लेने लगे और फर्ज़ी सवाल करने लगे तो वो परेशान हो गई. लोग Instagram और Facebook पर मेसेज करके पूछ रहे हैं कि क्या आप वही सोनम गुप्ता हैं?

25 साल की दूसरी सोनम गुप्ता पेशे से सॉफ्टवेयर इंजीनियर है. सोनम का गुस्सा सातवें आसमान पर है. इन्हें अभी तक कई फ्रेन्ड रिक्वेस्ट आ चुकी हैं. सोनम ने बताया कि मुझे अभी तक Instagram पर 32 मेसेज आ चुके हैं. अंजान लोग मुझे रिक्वेस्ट भेज रहे हैं और मुझे 10 के उस नोट की तस्वीर में टैग कर रहे हैं. मुझे एक-एक तस्वीर पर से टैग हटाना पड़ रहा है.

सोशल मीडिया पर आज हर व्यक्ति का प्रभाव है. लोग हमें फॉलो करते हैं. ऐसे में हमें कुछ भी शेयर करने से पहले ये देख लेना चाहिए कि कहीं हम अंजाने में किसी का मानसिक उत्पीड़न तो नहीं कर रहे. 

Advertisements