आपने अब तक एक से बढ़कर एक शादी देखी होगी। पर ऐसी शादी नहीं देखी होगी जिसमें दुल्हा-दूल्हन ही ना हो। जी हां हमारे देश में एक जगह ऐसी भी है जहां मरने के बाद बारात आती है और पूरे रीति रिवाजों के साथ शादी होती है। पश्चिमी यूपी के सहारनपूर जिलें में ऐसी अनोखी शादियां रचाई जाती है। जानकारी के अनुसार यहां नटबाजी समाज में परम्परा है जिसके तहत जीवित बच्चों की नहीं बल्कि मरने के बाद धूमधाम से शादी की जाती है। यह परम्परा सालों से चली आ रही है।

हाल ही में मीरपूर में एक शख्स ने अपने बेटी की शादी रचाई जिसकी करीब 18 साल पहले मौत हो गई थी। उन्होंने अपनी मृतक बेटी के मृतक दुल्हा भी ढूढ़ा। बताया जाता है इस शादी में दुल्हा-दूल्हन की जगह प्रतीकात्मक रूप के लिए गुड्डा गुडि़या रखे जाते है और फिर पूरे रीति रिवाजों के साथ धूम धाम से शादी रचाई जाती है।

Advertisements