दुनिया में आपने कई धार्मिक स्थलों के बारे में सुना होगा लेकिन आज मैं आपको एक ऐसे धार्मिक स्थल के बारे में बता रहा हु जहा जाकर मरा हुआ आदमी भी जिन्दा हो जाता है ! अगर कोई यहाँ मरे हुए व्यक्ति के शव को ले जाता है तो उसके शरीर में उसकी आत्मा पुनः लौट आती है और जिन्दा हो जाता है इंसान!

a2.jpg

प्रकृति की वादियो में बसा है एक गांव जो की देहरादुन से 28 किलोमीटर दूर स्थित है, ये स्थान लाखमाण्डल नामक स्थान है और यमुना नदी के तट से चार पाँच किलोमीटर दूर एक बर्निगाड़ नामक स्थान पर बना हुआ है! यंहा एक पूरी गुफा भगवान् शिव के प्राचीन अबशेषो से घिरी हुई है यहाँ का नजारा ही कुछ अलग है यहा जब खुदाई की गई थी तब यहाँ प्रकार प्रकार के हजारो की संख्या में शिवलिंग मिले थे.

a3.jpg

मान्यता है की लाक्षगृह से बचने के बाद अज्ञातवाश के दौरान युधिस्टर ने यहाँ शिवलिंग की स्थापना कराई थी इस शिवलिंग को लोग महामण्डेश्वर के नाम से जानते है यहाँ एक सुन्दर मंदिर बनवाया था. मंदिर के गेट पर दो द्वार पाल भी मौजूद है जो पक्षिम की तरफ मुह करके खड़े है.
लोग ऐसा मानते है की अगर यहाँ कोई किसी व्यक्ति के शव को इस मंदिर के द्वारपालों के सामने रखदे और मंदिर की पुजारी उस पर पबित्र जल छिड़क दे तो वो व्यक्ति जिन्दा हो जाता है !
लेकिन यहाँ ये व्यक्ति हमेसा हमेसा के लिए जिन्दा नही होता है ये व्यक्ति जैसे ही जिन्दा होता है तो इसके मुह से भगवान् का नाम निकलता है उसके बाद इसे गंगा जल पिलाया जाता है इतना करने के बाद इस व्यक्ति के शरीर से उसकी आत्मा फिर निकल जाती है लेकिन इस बात के रहस्य को आज तक कोई नही जाना पाया है की इस मंदिर के पीछे दो द्वारपाल क्यों है !
Advertisements