ब्रिटेन में रहने वाले वैज्ञानिक टिम फ्रीडे खुद को 160 बार सांपों से डंसवा चुके हैं। हर साल जहरीले सांपों के डंसने से लोगों की होने वाली मौत का हल ढूंढने के लिए टिम ऐसा कर रहे हैं।

एक अंग्रेजी वेबसाइट के अनुसार, टिम ने एक आंकड़े के जरिए से दावा किया है कि प्रति वर्ष कुल एक लाख से भी ज्‍यादा लोगों की मौत सांप के डंसने से होती है। टिम सांप के डंसने के लिए इस्‍तेमाल की जाने वाली वैक्‍सीन की खोज में लगे हुए हैं। बीते कई महीनों में 160 सापों से खुद को डंसवा चुके फ्रीडे ने बताया कि मैं खुद को सांप से इसलिए डंसवा रहा हूं ताकि मुझे दर्द महसूस हो सके। इस दर्द की वजह से ही मैं वैक्‍सीन को जल्‍दी ढूंढ पाउंगा। फ्रीडे ने कहा, ‘मैं सांप के जहर को खत्‍म करने वाली वैक्‍सीन का पता जब तक नहीं लगा लेता हूं तब तक खुद को सांप से डंसवाता रहूंगा।’ बता दें कि फ्रीडे ने खुद को कई जहरीले सांपों से डंसवाया है। कुछ वर्षों पहले कोबरा से खुद को डंसवाते समय फ्रीडे की हालत काफी गंभीर हो गई थी। कई दिनों तक कोमा में रहने के बाद फ्रीडे वापस सही हो सके थे।

 

Advertisements