आप सबने ‘मुन्ना भाई MBBS’ फ़िल्म ज़रूर देखी होगी. उसमें वो दृश्य जब मुन्ना(संजय दत्त) ‘जादू की झप्पी’ देकर सबका दिल जीत लेता है, बड़ा कमाल का था. भारतीय आर्मी को ये सीन कुछ ज़्यादा ही पसंद आ गया, तभी तो इस सीन से प्रेरित होकर आर्मी कश्मीर के संवेदनशील हिस्सों में लोगों को अपनेपन का एहसास दिलाने के लिए जादू की झप्पी दे रही है. ऐसा घाटी में फैली हिंसा को खत्म करने और स्थानीय लोगों का विश्वास पाने के लिए किया जा रहा है. यकीन मानिए घाटी में इसका असर भी खूब दिख रहा है.

इस अति संवेदनशील इलाके में अमन की बयार बहाने का काम कर रहे हैं अनंतनाग के इंचार्ज कर्नल धर्मेंद्र यादव. कर्नल यादव ने इसके लिए एक टीम बना रखी है, जो हर रोज़ क्षेत्र के बच्चे और बूढों से मिलकर उन्हें जादू की झप्पी देते हैं. अनंतनाग जिले में रहने वाले गुलाम मोहिनुद्दीन, जो पेशे से शिक्षक हैं, ने बताया कि ‘कर्नल यादव के कहने पर मैंने बच्चों को फिर से पढ़ाना शुरू किया, क्योंकि वो नहीं चाहते थे कि किसी भी कारण से बच्चों की पढ़ाई प्रभावित हो.’

s2

सेना के इस कदम से जिले के कई क्षेत्रों में कानून और व्यवस्था पुनः बहाल होती नज़र आ रही है.गौरतलब है कि गुडगांव के रहने वाले कर्नल यादव, उसी टीम का हिस्सा थे, जिसने बमदूरा में बुरहान वानी और दो आतंकियों का एनकाउंटर किया था. एनकाउंटर के बारे में पूछने पर कर्नल ने कुछ भी बोलने से मना कर दिया. उन्होंने कहा कि ‘ये कहानी मेरे और टीम के लिए अब खत्म हो चुकी है.’ 

भारतीय आर्मी ने आज उन लोगों के मुंह पर ताले लगा दिए, जो आर्मी को क्रूर और कठोर दिल का समझते हैं. कर्नल यादव की इस अनूठी पहल के लिए पूरे देश को उन पर गर्व है.

Advertisements